धनिया पत्ती के फायदे और नुकसान जान के हैरान हो जायेगे।

आपने भारतीय व्यञ्जन में धनिया जरूर खाया होगा। यह खाने को सजाने के लिए दाल सब्जी पुलाव पर डालते है। अब क्या आप जानते है कि धनिया पत्ती के फायदे भी बहुत है। जो आपको सेहतमंद रखते है।

धनिया पत्ती ऐसा पौधा जो भारत में रहने वाला हर व्यक्ति ने खाया होगा। क्योंकि भारत के हर घर में रेस्टोरेंट, ढाबे पर खाना पकाने पर धनिया पत्ती को सजाने और खाने की खुश्बू बढ़ाने के लिए किया जाता है। साथ ही हरे धनिये की चटनी और सेहत का ख्याल रखने वाले इसका जूस भी पीते है।

अन्य देशों में भी इसका इस्तमाल खाने के लिए मुख्यरूप से किया जाता है क्यों की यह खाने की रौनक बढ़ाने के साथ साथ स्वाद भी बढ़ाता है। और धनिया पत्ती के फायदे तो आप जान ही जायेंगे।

इसे एक अच्छा डायटरी फाइबर का स्त्रोत माना जाता है। साथ ही धनिये में कई औषधि गुण पाए जाते है। धनिये के पौधे में मौजूद एसेंशियल ऑयल और पेट्रोसेलिनिक के कारण इसे लिपिड का अच्छा स्त्रोत माना जाता है। इसमें मौजूद विटामिन ए सी, पोटैशियम, मैग्‍नीशियम , विटामिन सी और कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है। विटामिन ए और सी शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने का काम करते हैं। गर्मी हो सर्दी इसका इस्तेमाल करना हर समय शरीर को कई तरह से लाभ पहुंचाता है।

हरा धनिया के फायदे और नुकसान इस लेख में आपको पता चल जायेगे। तो इसे ध्यान पूर्वक पूरा पढे।

धनिया पत्ती के फायदे और नुकसान heading

धनिये की तासीर -धनिया की तासीर ठंडी होती है इसलिए यह पेट की समस्याओ के लिए अच्छा होता है।

धनिया पत्ती के फायदे – Coriander leaf benefit

1. प्रतिरोधक क्षमता के लिए धनिये के फायदे – Coriander leaf For immunity

धनिया खाने से रोग प्रतिरोधक क्षमता तेज होती है। क्योंकि इसमें विटामिन ए और सी मुख्य रूप से पाया जाता है। जिससे रोग प्रतिरोधक क्षमता तेज होती है। जिसके कारण अन्य बीमारियो से बचाव मिलता है।

इसे भी पढ़ेरोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली चाय की विधि।

2. वजन कम करने में लिए धनिया पत्ती के फायदे – Coriander for weight loss

धनिया वजन कम करता है, एक शोध किया गया जिसमें पत्ता लगाया है। धनिये के पत्ते में क्वेरसेटिन नाम का फ्लेवोनोइड होता है। क्वेरसेटिन में एंटीओबेसिटी गुण होते हैं, जो वजन कम करता है।

धनिया बीज को पानी में मिला कर उस पानी को पिने से भी कॉलेस्ट्रॉल की मात्रा कम होती है जिससे वजन घटता है।

3. संक्रमण दूर करे, धनिया पत्ती के लाभ – Benefits to remove infection

धनिया कई संक्रमण और एलर्जी को दूर करता है साथ ही दांतों के भी। क्योंकि एक अध्याय में पता किया गया है कि धनिये में एंटीफंगल और एंटी अडहिरंट (anti adherent) के गुण मौजूद होते है जो कई संक्रमण इन्फेक्शन को दूर करने में लाभकारी होते है।

4. पाचनतंत्र को ठीक करे धनिया के फायदे – Digestive system benefits of coriander

यदि आपका पाचनतंत्र ठीक नहीं है या पेट की समस्या होती है तो आपको धनिये का सेवन जरूर करना चाहिए। इससे पाचन, पेट में जलन, गैस भोजन के बाद चिड़चीडापन दूर करता है। धनिये की तासीर ठंडी होने के कारण यह पेट को ठंडा रखता है। यह आतो को भी साफ़ रखता है।

5. आँखों की रौशनी के लिए धनिये के फायदे – Benefits of coriander for eye

धनिया की पत्तियो में विटामिन ए, विटामिन ई और एंटीऑक्सीडेंट कैरोटिनॉयड होते है। विटामिन ए की प्रचुर मात्रा होती है जिससे आँखों की रौशनी बढ़ती है। और यह आँखों को स्वस्थ रख कर आँखों को उम्र बढ़ाती है।

6. मधुमेह में धनिया पत्ती के फायदे – Benefits of coriander leaf in diabetes

धनिया में फाइबर प्रोटीन और एंटीडायबिटिक गुण होते हैं। यह रक्त में मौजूद ग्लूकोज की मात्रा को कम करने में मदद करते हैं और रक्त शर्करा को नियंत्रित करता है। इसके अलावा धनिये में anti-diabetic गुण के कारण ब्लड में इंसुलिन की मात्रा को कंट्रोल करता है।

7. लिवर के लिए धनिया पत्ती ले लाभ – Coriander leaf benefit for liver

धनिये के पत्तों में भरपूर मात्रा में फ्लेवोनॉइट्स और एल्कलॉइड मौजूद होते हैं। जो लीवर की बीमारियों जैसे पीलिया और पित्त विकारों को ठीक करने में मदद करते हैं इसके अलावा वे उपयोगी यकृत के कार्य को भी बढ़ाते है।

8. एनीमिया के लिए धनिया के फायदे – Benefits of coriander for anemia

धनिया में आयरन की मात्रा भरपूर होती है जो एनीमिया जैसी बीमारी को दूर करने में मदद करती है। साथ ही एंटी ऑक्सीडेंट मिनरल और विटामिंस होने के कारण यह कैंसर से भी बचाव करती है।

9. त्वचा के लिए हरे धनिये के फायदे – coriander leaf benefits for the skin

धनिया सेहत का तो ख्याल रखता ही है इसके साथ-साथ यह त्वचा के लिए भी काफी फायदेमंद होता है। एक शोध के अनुसार पता किया गया कि धनिया के पत्ते में एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं यह त्वचा पर पड़ने वाली हानिकारक किरणों से बचाने का काम करते हैं। और चोट लगने के कारण घाव को भरने में भी मदद करते हैं।

इसके साथ ही इसमें एंटीसेप्टिक, एंटीऑक्सीडेंट, एंटीफंगल और कीटाणु नाशक गुण होते हैं। जो त्वचा में होने वाली झुर्रिया, सूखेपन को दूर करके त्वचा में निखार लाने का काम करते है।

10. अस्थि घनत्व को मजबूत करता है धनिया – Strengthens bone density is coriander

धनिया के पत्तों में समृद्ध में खनिज ,कैल्शियम, मैग्निशियम और फास्फोरस की प्रचुर मात्रा होती है जिससे दालो और सलाद में इन पत्तो को खाने से अस्थि घनत्व में वृद्धि होती है और गठिया , जोड़ों में दर्द की समस्या दूर होती है।

11. नकसीर को दूर करे धनिया पत्ती के फायदे – Coriander Remove nose blood

नकसीर में आराम पाने के लिए यानि नाक से खून निकलने को बंद करने के लिए भी धनिया पत्ती फायदे होते हैं। अगर आप इससे आराम पाना चाहते हैं तो इसका इस्तमाल ऐसे करे।

10 ग्राम पत्तियो में एक चुटकी कपूर मिला कर इसे पीस लें और उसका रस बना दे। अब इस रस को नाक के दोनों छिद्रों में 1 या 2 बून्द डाले साथ ही रस को माथे पर मले ऐसा करने से काफी हद तक आपको नकसीर में आराम देखने को मिलेगा।

धनिया पत्ती

धनिया के नुकसान – Coriander leaf side effect

जिस तरह छोटे से धनिये के इतने फायदे है उसी तरह इसके अधिक खाने से कुछ नुकसान भी है। वो भी आपको जानना जरूरी है इसलिए इसे भी ध्यान से पढ़े।

1. इसे अधिक सेवन से त्वचा में एलर्जी होने का खरता बन सकता है।

2. बहोत ज्यादा धनिया खाने से त्वचा के सनबर्न होने की सम्भवना हो सकती है जिससे त्वचा कैंसर भी हो सकता है।

3. अधिक धनिया खाने से लीवर में भी परेशानी हो सकती है।

4. जिनको रक्तचाप की समस्या है वह धनिये का इस्तमाल कम करे क्यों की धनिया रक्तचाप को कम करता है

5. बरसात के मौसम में धनिया खाना नुकसान दायक होता है

इसे भी पढ़ेबरसात में क्या खाएं क्या न खाए, जरूर जाने।

धनिया खाने का तरीका – How to eat coriander leaf

धनिया के पत्ते का उपयोग आप अपने इच्छा अनुसार किसी भी तरह से खा सकते है हम आपको कुछ तरीके बता रहे है।

  • ग्रीन जूस बनाने में उसमे धनिया पत्ती डाल कर पी सकते है।
  • धनिया पत्ता की चटनी बना कर आप इसे खा सकते है।
  • आप दाल सब्जी में धनिया को ऊपर से डाल कर खा सकते है इससे स्वाद भी बढ़ जायेगा।
  • सलाद में आप धनिया पत्ता को बारीक़ काट कर मिला कर खा सकते है।
  • आप पुलाव, बिरयानी या चावल में भी ऊपर से टॉपिंग करके खा सकते है।

मत्वपूर्ण जानकारी – Important information

● धनिया पत्ती के नुकसान सोच कर इसे खाना न छोड़े यह आपके लिए काफी फायदेमंद है बस से सिमित मात्रा में खाने से इसके नुकसान नही है।

● गर्भवती महिला को डॉक्टर की सलाह देकर ही धनिया पत्ती का सेवन करना चाहिए।

● धनिया पत्ती को अच्छे से साफ करके खाये।

Share on Social Media

Leave a Reply